बच्चों के चरित्र निर्माण के लिए गायत्री परिवार द्वार निःशुल्क बाल संस्कार शाला का शुभारंभ GAYATRI PARIWAR

Must read

- Advertisement -

अखिल विश्व गायत्री परिवार जिला रायपुर के द्वारा बच्चो एवं युवाओं को स्वावलंबी एवं उनके चारित्रिक निर्माण के लिए छत्तीसगढ़ में बाल एवं युवा संस्कार शाला का शुभारंभ शांतिकुंज हरिद्वार से प्रोफेसर प्रमोद भटनागर, श्री योगेश पटेल एवं छत्तीसगढ़ के जोन समन्वयक श्री दिलीप पाणिग्रही के द्वारा शाला के आचार्यों, गायत्री परिवार के परिजनों एवं विद्यार्थियों की उपस्थिति में किया गया।

रायपुर जिला समन्वयक श्री लच्छू राम निषाद ने बताया कि राष्ट्र में आज महामानवों की बड़ी आवश्यकता है, राष्ट्र में सर्वांगीण उन्नति का चक्र चलाने के प्रखर, ओजस्वी, तेजस्वी युवाओं की भी आवश्यकता है वर्तमान परिस्थितियों की मांग बहुत बड़ी है। आज हमें राष्ट्र निर्माण के लिए पुनः स्वामी विवेकानंद, महात्मा गांधी एवं सुभाष जैसे व्यक्तित्व वाले युवाओं की आवश्यकता है इसीलिए आज बच्चों के चरित्र निर्माण एवं उन्हें स्वावलंबी, सादचारी तथा संस्कारवान बनाने के लिए गायत्री परिवार आगे आया है। कोविड के कारण आज बच्चे विद्यालय नहीं जा पा रहे हैं जिससे उन्हें ऑनलाइन क्लास के माध्यम से ही प्रातः काल से लेकर रात्रि कालीन तक होने वाले क्रियाकलापों को किस प्रकार से समय प्रबंधन करके सही उपयोग किया जा सकता है इस बारे में बताते हुए उनके चरित्र निर्माण उन्हें स्वावलंबी तथा संस्कारवान विषयों पर पढ़ाया जाता है।

5 वर्ष से 16 वर्ष के बच्चों के लिए बाल संस्कार शाला का संचालन प्रति रविवार और गुरुवार को 11 से 12.30 बजे एवं 16 वर्ष से 22 वर्ष के लिए युवा किशोर संस्कार शाला का संचालन प्रति रविवार और गुरुवार को 3.30 बजे से 5 बजे किया जाएगा। यह ऑनलाइन शाला में अलग अलग विषयों पर पारंगत आचार्यों के द्वारा कक्षा ली जाएगी। जिनमे डॉ कुंती साहू, अनोखी निषाद,आनंद श्रीवास्तव,प्रेमलता चंद्राकर,दुर्वासा,मानसी सिंह एवं सविता पटेल आदि आचार्यजन शामिल रहेंगे।

- Advertisement -

बाल संस्कार शाला में अपने बच्चो को शामिल करने के लिए आप ऑनलाइन लिंक लच्छुराम निषाद 7974136180, अनोखी निषाद 6264409841, प्रेमलता चंद्राकर 7999929699,आनंद श्रीवास्तव 7999388252 में संपर्क कर प्राप्त किया जा सकता है।

- Advertisement -

More News