UP: पेट्रोल बचाने की नई तकनीक से आधा किया दुपहिया वाहनों ख़र्चा,मुख्यमंत्री भी कर चुके है सम्मानित

Must read

- Advertisement -

आपको कैसा लगेगा जब आपका दुपहिया वाहन 40 से 45 किलोमीटर की जगह 80 किलोमीटर का एवरेज देने लगे जाहिर सी बात है जेब में पड़ने वाला लोड आधा हो जाएगा। कौशाम्बी के निवासी विवेक पटेल ने ऐसी ही जुगाड़ तकनीक निकाली है,अपनी इस जुगाड़ तकनीक के जरिये विवेक पटेल लोंगो को दुपहिया वाहन से जेब में पड़ने वाले लोड को आधा कर पा रहे हैं।


यह है तकनीक,दुपहिया वाहनों का बढ़ा एवरेज


विवेक पटेल ने कार्बरेटर जेट की बदौलत दुपहिया वाहनों का एवरेज दुगुना किया है,यह तकनीक फ्यूल इंजेक्शन तकनीक पर आधारित है,इस तकनीक में उन्होंने बदलाव करते हुये नये वैरियंट कार्बरेटर जेट को उपयोग में लाया है। वैसे इस कारगर तकनीक पर अभी ऑटो मोबाइल के विशेषज्ञों की मुहर लगना बाकी है जिसके बाद ही इसका पेटेंट हो सकेगा। ऑटोमोबाइल सेक्टर से जुड़े लोग बताते है कि फ्यूल इंजेक्शन तकनीक के द्वारा ही दोपहिया वाहनों के इंजन में पेट्रोल जाता है,उसके वाष्पीकरण से ही इंजन चल पाता है। वहीं विवेक के अनुसार कार्बरेटर जेट इनमें लगे होते है,उनके सबसे निचले हिस्से में तकरीबन दो मिलीलीटर व्यास वाला सुराख होता है,उसके जरिये ही वाहन का आधा पेट्रोल बर्बाद होता रहता है,उन्होंने इस बर्बादी को रोकने में सफलता पायी है इसके लिये ही उन्होंने कार्बरेटर जेट में बदलाव किया है। इसके लिए वह कार्बरेटर जेट के निचले सुराख को पूरी तरह बंद करके ऊपर आधे से एक मिलीमीटर व्यास के दो छोटे सुराख कर देते है,जिससे पेट्रोल का पूरा इस्तेमाल होने लगता है।

- Advertisement -

जानकारी के मुताबिक विवेक ने वैसे अभी 12 वीं पास है,साथ ही भरण पोषण के लिये शटरिंग का काम करते है। 23 अक्टूबर 2018 में विवेक पटेल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवोन्मेषक पुरस्कार दिया था,विवेक बताते है इस पुरस्कार के मिलने के बाद ही उनका हौसला और बढ़ा था।

- Advertisement -

More News